एनजीओ पीडब्ल्यूएस ने लावारिस वृद्धा को वृद्धाश्रम पहुंचाया 112 व पुलिस ने किया सराहनीय योगदान ।





नैनी, प्रयागराज। एनजीओ पीडब्ल्यूएस के प्रयास से लावारिस वृद्धा को वृद्धाश्रम पहुंचाया गया। जानकारी के अनुसार कल अपराह्न प्रयागराज के नैनी थानांतर्गत पीडीए कालोनी के ई0ई0 ब्लॉक में कहीं से एक वृद्ध महिला आकर खड़ी हो गई। उक्त महिला को न तो कुछ दिखाई पड़ रहा था व न ही वह कुछ सुनने व बोलने में सक्षम थी। जानकारी मिलने पर पीडब्ल्यूएस अध्यक्षा मनीषा पाण्डेय ने उसके ठंड से बचाव का उपाय किया व उसे नई ऊलेन कम्बल ओढ़ाने के बाद अपने हाथों से उसे गर्म ताजा भोजन कराया एवं 112 पर फोन करके पुलिस सहायता ली।



112 व स्थानीय थाने की पुलिस ने सराहनीय मानवीय कार्य करके उस महिला को अरैल स्थित वृद्धाश्रम तक पहुंचा दिया।एनजीओ पीडब्ल्यूएस ने लावारिस वृद्धा को वृद्धाश्रम पहुंचाया 112 व पुलिस ने किया सराहनीय योगदान। नैनी, प्रयागराज। एनजीओ पीडब्ल्यूएस के प्रयास से लावारिस वृद्धा को वृद्धाश्रम पहुंचाया गया। जानकारी के अनुसार कल अपराह्न प्रयागराज के नैनी थानांतर्गत पीडीए कालोनी के ई0ई0 ब्लॉक में कहीं से एक वृद्ध महिला आकर खड़ी हो गई। उक्त महिला को न तो कुछ दिखाई पड़ रहा था व न ही वह कुछ सुनने व बोलने में सक्षम थी। जानकारी मिलने पर पीडब्ल्यूएस अध्यक्षा मनीषा पाण्डेय ने उसके ठंड से बचाव का उपाय किया व उसे नई ऊलेन कम्बल ओढ़ाने के बाद अपने हाथों से उसे गर्म ताजा भोजन कराया एवं 112 पर फोन करके पुलिस सहायता ली ।






112 व स्थानीय थाने की पुलिस ने सराहनीय मानवीय कार्य करके उस महिला को अरैल स्थित वृद्धाश्रम तक पहुंचा दिया।एनजीओ पीडब्ल्यूएस ने लावारिस वृद्धा को वृद्धाश्रम पहुंचाया 112 व पुलिस ने किया सराहनीय योगदान।नैनी, प्रयागराज। एनजीओ पीडब्ल्यूएस के प्रयास से लावारिस वृद्धा को वृद्धाश्रम पहुंचाया गया। जानकारी के अनुसार कल अपराह्न प्रयागराज के नैनी थानांतर्गत पीडीए कालोनी के ई0ई0 ब्लॉक में कहीं से एक वृद्ध महिला आकर खड़ी हो गई ।






उक्त महिला को न तो कुछ दिखाई पड़ रहा था व न ही वह कुछ सुनने व बोलने में सक्षम थी। जानकारी मिलने पर पीडब्ल्यूएस अध्यक्षा मनीषा पाण्डेय ने उसके ठंड से बचाव का उपाय किया व उसे नई ऊलेन कम्बल ओढ़ाने के बाद अपने हाथों से उसे गर्म ताजा भोजन कराया एवं 112 पर फोन करके पुलिस सहायता ली। 112 व स्थानीय थाने की पुलिस ने सराहनीय मानवीय कार्य करके उस महिला को अरैल स्थित वृद्धाश्रम तक पहुंचा दिया ।