04-Jul-2018 09:42

पटना:बिहटा अवैध पटाखा फैक्ट्री में भीषण विस्फोट।

थर्राया पटना का बिहटा इलाका,ध्वस्त हुआ नवनिर्मित मकान, एक जख्मी पकड़ा गया, दो फरार,चार हिरासत में,तीन घरों से भारी मात्रा में विस्फोटक,पटाका-बम व सामग्री बरामद।

वरीय पुलिस अधिकारियों के साथ अग्निशमन, एफएसएल,बम निरोधक दस्ता और डॉग स्क्वाड की टीम ने की जांच,पुलिस कर रही पटाखा के साथ-साथ बम बनाने की जांच, अवैध पटाखा फैक्ट्री में भीषण विस्फोट से थर्राया राजधानी पटना का बिहटा इलाका।ध्वस्त हुआ तारानगर गांव में नवनिर्मित मकान।एक जख्मी पकड़ा गया,दो फरार।चार हिरासत में।तीन घरों से भारी मात्रा में विस्फोटक,पटाका -बम और बनाने की सामग्री बरामद।वरीय पुलिस अधिकारियों के साथ एफएसएल,बम निरोधक दस्ता और डॉग स्क्वाड की टीम ने की जांच।पुलिस कर रही पटाखा के साथ-साथ बम बनाने की जांच। विस्फोट की घटना सिकरिया गांव,बिहटा के पाश इलाके में हुई है।धमाका इतना तगड़ा था कि उसकी आवाज दूर तक गूँजती रही।

घटना की सूचना मिलते ही पुलिस-प्रशासन के होश उड़ गये।दल-बल के साथ मौके वारदात पर पहुचीं पुलिस ने पहले वहां अफरा-तफरी के माहौल को शांत किया।फिर छानबीन के बाद चौकाने वाला खुलासा किया है।घटना की सूचना पर पटना के सिटी एसपी वेस्ट रविन्द्र कुमार तथा एएसपी दानापुर मनोज तिवारी, बिहटा के थानाध्यक्ष रंजीत कुमार सिंह तथा नेउरा ओपी प्रभारी प्रशांत कुमार ने घटना स्थल का मुआयना कर मामले की तहकीकात की।एफएसएल की टीम विस्फोटक सामग्री को जांच के लिये पटना ले गयी है।बम निरोधक दस्ता जिंदा बमों को अपने कब्जे में ले लिया है।बताया जाता है कि इस घटना में जख्मी मो०राजू पकड़ा गया है जबकि दो जख्मी कारोबारी फरार हो गए है।घटना वुधवार की है।इस संबंध में लोगो का कहना है कि  विस्फोट इतना तगड़ा था कि छह माह पहले बने नवनिर्मित मकान के ईट-पत्थर हवा में उड़ते हुये दूर तक बिखड़ गये।जिससे आसपास के घरों को भी नुकसान हुआ।इस संबंध में पुलिस का कहना है कि बम बनाने वाला का कनेक्शन किसी आतंकी संगठन हैं कि नहीं इसकी छानबीन की जा रही है।वैसे प्रारंभिक जांच में यहां अवैध रूप से पटाखा बनाने की बात सामने आया है। सूत्रों का कहना है कि पहले भी वर्ष 2013 में इसी के घर मे विस्फ़ोट हुआ था। पहले भी पुलिस ने उसके घर से विस्फोटक सामग्री बरामद किया था।जिसमें एक महिला का हांथ झुलस गया था।

जबकि वह महिला इस बात से इंकार करते हुए बतायी कि गैस रिसाव में आग लगने से उसका हांथ जख्मी हुआ था। बताया जाता वर्ष 1932 में पटाखा बनाने का जिस लाइसेंस की बात की जा रही है।वह पड़ोसी का था।निर्गत किया गया  लाइसेंस को अभी तक रिन्यूवल भी नहीं कराया गया था।जबकि खौरुन खातून का बेटा मो० सोनू और दामाद मो०कलीम उर्फ पप्पू द्वारा वर्षों से अवैध पटाखा का निर्माण किया जा रहा था।बुधवार को कलीम उर्फ पप्पू के घर पटाखा और बम बनाने के क्रम में विस्फोट हो गयी।जिसमे गंभीर रूप से जख्मी मो० कलीम की हालत नाजुक है।जख्मी का ईलाज पुलिस की देखरेख में चल रही है।इस मामले में फैक्ट्री संचालक खैरुन खातून का दामाद खीरी मोड़,इमामगंज निवासी मो,०कलीम उर्फ पप्पू , बेटी अफसाना बानो उर्फ सोनी,तारानगर निवासी मो०असगर अली का पुत्र मो० खुर्शीद आलम तथा उनके पुत्र मो०अरमान को हिरासत में लिया गया है।विस्फोटक सामग्री मरहूम मो०अब्दुल कयूम के दामाद,बेटा और पड़ोसी मो०खुर्शीद आलम के घर से बरामद किया गया है।घटना के बाद लोग दहशत में है।बताया जाता है कि विस्फोट के बाद स्थिति इतनी गंभीर हो गयी थी कि यदि पुलिस तत्काल वहां नहीं पहुचती तो बड़ी अनहोनी हो सकती थी।लोग उग्र हो गये थे।पकड़े गये कारोबारियों का कहना है कि वे लोग सिर्फ पटाखा बनाने का कार्य करते है।जबकि स्थानीय लोगों का कहना है कि यदि पटाखा बनता था तो इतना बड़ा विस्फोट कैसे हो गया।जिससे नया पक्का मकान के पचखड़े उड़ गये।ग्रामीणों का कहना है कि पहले यह परिवार काफी गरीब था।सिर्फ सोनू की बहन मोनू शिक्षामित्र के रूप में गांव के स्कूल में पढ़ाती है।जबकि यह परिवार कुछ दिनों से खुशहाल जिंदगी जी रहा है।इलाके में तरह-तरह की चर्चाएं हो रही है।पुलिस का कहना है कि तीनों के घर से बरामद विस्फोटक सामग्री की जांच के बाद सारा खुलासा हो जाएगा।

04-Jul-2018 09:42

समाचार मुख्य खबरें

समाचार भारत_दर्शन राजनीति खेल जुर्म शिक्षा चिकित्सा धर्म परम्परा व्यक्तित्व कला सम्मान फिल्म सामाजिक_संस्थान रोजगार कानून अर्थव्यवस्था समस्या पर्यावरण सैनिक पुलिस गांव शहर ज्योतिष सामान्य_प्रशासन जन_संपर्क छात्र_छात्रा
Copy Right 2020-2025 Ahaan News Pvt. Ltd. || Presented By : CodeLover Technology