07-Nov-2017 07:50

8 नवंबर लोकतंत्र के इतिहास का काला दिन, मोदी मानें अपनी गलती- मनमोहन सिंह

नोटबंदी के लाभ आज तक नहीं बता पाए मोदी।

नोटबंदी के एक साल पूरा होने पर पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह केन्द्र की मोदी सरकार पर जमकर बरसे. उन्होंने नोटबंदी को संगठित लूट और जीएसटी को टैक्स टेररिज्म करार दिया है. कल 8 नवंबर को 1 नोटबंदी के 1 साल पूरा हो रहे हैं, जिसके अवसर पर आज पूर्व पीएम और विख्यात अर्थशास्त्री मनमोहन सिंह ने प्रेसवार्ता लेकर मोदी सरकार के फैसलों पर कड़ी टिप्पणी करते हुए सवालिया निशान लगाया है. उन्होंने नोटबंदी को मोदी सरकार की सबसे बड़ी भूल बताया है. लल्लूराम होम खास खबर देश-विदेश सियासत नौकरशाही छत्तीसगढ़ मनोरंजन जरा हटके हम हैं लल्लूराम डॉट कॉम AArti Group Ad 8 नवंबर लोकतंत्र के इतिहास का काला दिन, मोदी मानें अपनी गलती- मनमोहन सिंह November 7, 2017 Rudra Pratap Singh शेयर करें: FacebookTwitterWhatsAppMessenger CG Tourism Ad नई दिल्ली। नोटबंदी के एक साल पूरा होने पर पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह केन्द्र की मोदी सरकार पर जमकर बरसे. उन्होंने नोटबंदी को संगठित लूट और जीएसटी को टैक्स टेररिज्म करार दिया है. कल 8 नवंबर को 1 नोटबंदी के 1 साल पूरा हो रहे हैं, जिसके अवसर पर आज पूर्व पीएम और विख्यात अर्थशास्त्री मनमोहन सिंह ने प्रेसवार्ता लेकर मोदी सरकार के फैसलों पर कड़ी टिप्पणी करते हुए सवालिया निशान लगाया है. उन्होंने नोटबंदी को मोदी सरकार की सबसे बड़ी भूल बताया है. आपके सुझाव हमारे लिए महत्वपूर्ण हैं लल्लूराम डॉट कॉम पर देश-प्रदेश की खबरें पढ़ने के बाद आपका अनुभव कैसा रहा? आपका सुझाव हमें हमारी वेबसाइट और ख़बरों की गुणवत्ता बढ़ाने में मदद करेगा। बहुत अच्छा अनुभव अच्छा अनुभव सामान्य अनुभव खराब अनुभव बहुत खराब अनुभव अपने सुझाव यहाँ लिखें... submit पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने अहमदाबाद में कहा कि 8 नवंबर भारत के लोकतंत्र के इतिहास का काला दिन है. दुनिया में किसी भी देश ने ऐसा फैसला नहीं लिया जिसमें 86 फीसदी करेंसी को एक साथ वापस ले लिया हो. मनमोहन सिंह ने कहा कि कैशलेस इकोनॉमी को बढ़ावा देने के लिए नोटबंदी का फैसला काफी गलत था. पूर्व पीएम ने कहा कि जो मैंने संसद में कहा था वही आज भी कहूंगा कि नोटबंदी होने के कारण लोगों की मुश्किलें बढ़ी हैं. यह कारोबारियों पर एक टेक्स टेररिज्म की तरह लागू हुआ है. मनमोहन सिंह बोले कि नोटबंदी और जीएसटी के कारण भारत की अर्थव्यवस्था को दोहरा झटका लगा, इसकी वजह से छोटे कारोबारियों की कमर टूट गई.मनमोहन सिंह ने सोमवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को यह स्वीकार करना चाहिए कि नोटबंदी का फैसला एक बहुत बड़ी गलती थी और उन्हें अपनी गलती मान कर अर्थव्यवस्था को सुधारने का काम करना चाहिए. मनमोहन सिंह ने कहा कि ‘इसका (नोटबंदी का) तुरंत असर नौकरियों पर पड़ा है. हमारे देश की तीन चौथाई गैर-कृषि रोजगार छोटे और मझोले उद्यमों के क्षेत्र में हैं. नोटबंदी से इस क्षेत्र को सबसे अधिक नुकसान हुआ है. इसलिए नौकरियां चली गईं और नई नौकरियां पैदा नहीं हो रही हैं.’ आपको बता दें कि 8 नवंबर को नोटबंदी की पहली सालगिरह है. इस मौके पर पूरे देश में विपक्ष कालाधन दिवस मनाएगा और सरकार के इस फैसले का विरोध करेगा. तो वहीं दूसरी तरफ सरकार की ओर से भी एंटी ब्लैक मनी डे मनाने की तैयारी है.

07-Nov-2017 07:50

राजनीति मुख्य खबरें

समाचार भारत_दर्शन राजनीति खेल जुर्म शिक्षा चिकित्सा धर्म परम्परा व्यक्तित्व कला सम्मान फिल्म सामाजिक_संस्थान रोजगार कानून अर्थव्यवस्था समस्या पर्यावरण सैनिक पुलिस गांव शहर ज्योतिष सामान्य_प्रशासन जन_संपर्क छात्र_छात्रा
Copy Right 2020-2025 Ahaan News Pvt. Ltd. || Presented By : CodeLover Technology