15-Jun-2018 08:43

मुजफ्फरपुर के हॉस्टल में लड़कियों के यौन शोषण पर भवेश यादव का बड़ा बयान

भवेश यादव ने पूछा- नीतीश कुमार और सुशील मोदी कि इतनी गंभीर चुप्पी क्यों हैं, राजद के युवा सम्राट भवेश प्रसाद यादव ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी पर सवाल उठाए है.

भवेश यादव ने कहा मुजफ्फरपुर बालिका गृह यौन उत्पीड़न के मामले में नीतीश कुमार और सुशील मोदी गंभीर चुप्पी क्यों साधे हुए हैं किन-किन मंत्रियों और सरकारी अधिकारियों के यहां नाबालिक लड़कियों को भेजा जाता था. इस बात का खुलासा करने में डर क्यों रहे हैं. इसलिए कि सत्ताधारी दलों के दिग्गज नेताओं के नाम सुनने में आ रहे हैं. मुजफ्फरपुर के हॉस्टल में हुए कथित यौन शोषण का खुलासा समाज कल्याण विभाग द्वारा चलाए जाने वाली संस्थाओं की सोशल ऑडिट रिपोर्ट से हुआ है. इस रिपोर्ट के आधार पर जिला प्रशासन ने हॉस्टल के संचालक और अन्य कर्मचारियों के खिलाफ FIR दर्ज की है और उन्हें गिरफ्तार किया. यौन शोषण के मामले में शहर के कई नामी लोगों के नाम जुड़े होने के आरोप लग रहे हैं. पुलिस को हॉस्टल में काम कर रही महिला और एक अज्ञात शख्स की तलाश है. जो लड़कियों को यौन शोषण के लिए मजबूर करता था. भवेश यादव का कहना है इस मामले में सत्ताधारी लोगों का हाथ है. जिस महिला और एक अज्ञात शख्स का तलाश किया जा रहा है वह अज्ञात कैसे हो सकते हैं. सत्ताधारियों के दबाव में उनका नाम अज्ञात में रखा जा रहा है. भवेश यादव ने कहा बिहार के मुजफ्फरपुर के गर्ल्स हॉस्टल में नाबालिक लड़कियों का यौन शोषण का मामला जो कि बहुत ही शर्मनाक है.

भवेश यादव ने नीतीश कुमार पर हमला तेज करते हुए कहा कि नीतीश कुमार और सुशील कुमार मोदी हर बात पर प्रेस कॉन्फ्रेंस करने वाले इस मुद्दे पर चुप क्यों हैं. लड़कियों के यौन शोषण का मामला उस वक्त और गरमा गया. जब यह रिपोर्ट आई कि 44 लड़कियों में से 3 लड़कियां गर्भवती पाई गई. जब इस मामले की जांच आगे बढ़ी तो पाया गया कि हॉस्टल की लड़कियां 6 वर्ष से 14 वर्ष तक के लड़कियों को आश्रय देने की सुविधा है. राजद के युवा सम्राट भवेश प्रसाद यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी बताएं बालिका गृह का संचालनकर्ता जो एक अखबार भी चलाता है. उसे उनके अधीन पीआरडी विभाग द्वारा कितने करोड़ रुपए का विज्ञापन दिया गया है. और किन कारणों से दिया गया है ?

भवेश यादव ने कहा कि बालिकाओं के साथ कुकृत्य करने वाले के अखबार को नैतिक बाबू को प्रतिबंध नहीं करना चाहिए ? अब नीतीश कुमार और सुशील मोदी चुप्पी साधे रखे हैं क्यों नहीं बता रहे हैं कि हॉस्टल में रहने वाली लड़कियों को सत्ताधारी नेता से लेकर अधिकारी तक के घरों में भेजी जाती थी.

भवेश यादव ने पूछा कहां है? जदयू प्रवक्ता नीरज कुमार इतनी शर्मनाक घटना होने के बावजूद भी शर्म नहीं आती जो नीतीश कुमार को बहुत बड़ा नेता बताते हैं. जो की जूते और चप्पलों स्वागत किया जाने वाला बिहार का बहुत बड़ा नेता कैसे हो सकता है.

15-Jun-2018 08:43

राजनीति मुख्य खबरें

समाचार भारत_दर्शन राजनीति खेल जुर्म शिक्षा चिकित्सा धर्म परम्परा व्यक्तित्व कला सम्मान फिल्म सामाजिक_संस्थान रोजगार कानून अर्थव्यवस्था समस्या पर्यावरण सैनिक पुलिस गांव शहर ज्योतिष सामान्य_प्रशासन जन_संपर्क छात्र_छात्रा
Copy Right 2020-2025 Ahaan News Pvt. Ltd. || Presented By : CodeLover Technology