09-Dec-2019 10:08

डॉक्टर संजय जयसवाल, लोकसभा चुनाव में पुलिस की संदिग्ध भूमिका -अर्जुन भारतीय

सांसद डॉ संजय जयसवाल कमजोर वर्ग के मतदाताओं के पक्ष में आवाज उठाने के कारण कुछ लोग उग्र हो गए थे

लोकसभा चुनाव में बंजरिया विधानसभा क्षेत्र में गजब का हंगामा मचा था। सांसद डॉ संजय जयसवाल कमजोर वर्ग के मतदाताओं के पक्ष में आवाज उठाने के कारण कुछ लोग उग्र हो गए थे। उन लोगों ने 500 की संख्या में डॉक्टर जयसवाल को हथियारों से लैस होकर घेर रखा था। उनकी नीयत में खोटदिख रही थी। संभवत: उनकी नियत में जानलेवा हमला करने की थी। इस संगीन घटना की शुरुआती समय से ही पुलिस- प्रशासन को खबर दी जाती रही, परंतु पुलिस -प्रशासन का घंटों नहीं आना बहुत कुछ कह रहा था। किसी तरह घंटों बाद सांसद डॉ संजय जयसवाल को हमलावरों से मशक्कत करके निकाला गया था।

गौर करने से जाहिर होता है कि उस रोज के वाक्या की जगह हर वोट में कमजोर वर्ग के मतदाताओं पर जोर-जुल्म किया जाता रहा है। इस घटना के कुछ वर्षों पूर्व उसी जगह पूर्व विधायक श्याम बाहरी प्रसाद के ऊपर वोट के दिन ही जानलेवा हमला हुआ था। सांसद डॉक्टर जायसवाल के ऊपर हुए हमले के समय भी उनके साथ श्याम बिहारी प्रसाद थे।

उस दिन भी गुस्सा था। आज भी है, उस दिन डॉक्टर संजय जयसवाल पर हुए हमले के कारण गुस्सा था। आज गुस्सा है उस दिन के हमले के केस में उल्टे डॉक्टर जयसवाल को ही मुजरिम बनाने को लेकर कैसा कमाल है ? इस कमाल के कारण ही फिर से लोगों में गुस्से की आग धथकने लगी है।

शुक्र कहिए कि संप्रति पुलिस महकमे के आलाअधिकारियों के मामले की फिर से मामले की जांच कराने के आदेश की सूचना से गुस्से की फैलती आग पर तत्काल अंकुश लग गया है। पुलिस महकमे की इस त्वरित कार्रवाई की हम और बहुत हद तक आम लोगों ने अच्छा कदम बताया है। नई जांच में अतीत की घटनाओं को ध्यान में रखकर गहराई से अनुसंधान किया जाए। कृपया आग बुझाइए, थथकनेमत दीजिए ?

09-Dec-2019 10:08

राजनीति मुख्य खबरें

समाचार भारत_दर्शन राजनीति खेल जुर्म शिक्षा चिकित्सा धर्म परम्परा व्यक्तित्व कला सम्मान फिल्म सामाजिक_संस्थान रोजगार कानून अर्थव्यवस्था समस्या पर्यावरण सैनिक पुलिस गांव शहर ज्योतिष सामान्य_प्रशासन जन_संपर्क छात्र_छात्रा
Copy Right 2020-2025 Ahaan News Pvt. Ltd. || Presented By : CodeLover Technology