09-Apr-2018 05:17

आशुतोष के डर में मोदी सरकार, माँ की गोद उजागर कर भी आँखे बंद

आवाज दबाने के लिए मोदी सरकार ने खेला राजनीतिक खेल। आरक्षण के विरोध में भारत बंद पर आम आदमी की आवाज दबाने के लिए लोगों की गिरफ्तारी कर गुप्त स्थानों पर छुपा जा रहा है।

भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बिहार दौड़े को लेकर जहाँ पुरा भारत हाई अलर्ट हैं। वहीं बिहार दौड़ा हमेशा से प्रमुख रहा हैं। ज्ञात हो कि 2 अप्रैल को सुप्रीम कोर्ट के फैसले के विरूद्ध आरक्षण पर अफवाह फैलाकर भारत बंद किया गया। जिसमें भारत के प्रमुख दलों ने भागीदारी ली। जिसमें बड़ी सभी राजनैतिक दलों का प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष समर्थन था। राजनीति दलों में एक बड़ी होड़ जातिवाद को लेकर लगी रहती हैं। जिसमें प्रमुख दलों में सत्ता दल से लेकर पूरा विपक्ष शामिल थी। वहीं सत्ता के गलियारों ने एक बार फिर एक राजनैतिक खेल खेलते हुए सवर्ण आंदोलन की आवाज दवाने में लग गई। बता दें कि एक बार फिर भारत बंद का आगाज भारत के प्रमुख सवर्ण संगठनों द्वारा भारत बंद का आह्वान किया गया। जिसको लेकर बिहार में कई बड़े चेहरों को गुप्त रूप से सोमवार की शाम में गिरफ्तारी की गई। वहीं मिली सूत्रों से जानकारी के अनुसार भूमिहार ब्राह्मण एकता मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष आशुतोष कुमार को गिरफ्तार कर महेनदिया थाना ले जाने के बजाए गुप्त रूप से रखा गया हैं। इस संबंध में आशुतोष कुमार के साथ गये साथियों ने बताया कि गया के सिटी पुलिस अधीक्षक चाय पर बुलाकर अपने घर पर गिरफ्तार कर लिया। लेकिन देर रात तक किसी भी थाने को सुपुर्द नहीं किया गया। गिरफ्तारी पर आशुतोष कुमार के पिता ने बताया कि कई दिनों से कई थानों से फोन आया। वहीं कई पुलिस अधीक्षक के समकक्ष वरीय अधिकारी ने भी फोन से जानकारी ले रहे थे। आशुतोष कुमार को अपने संगठन के काम में नहीं आगे बढ़ने का दबाव बनाया जा रहा था। वहीं गया सिटी पुलिस अधीक्षक से हुई टेलिफोनिक बात में पता चला कि उनके यहाँ आशुतोष कुमार की गिरफ्तारी नहीं हुई हैं। लेकिन उनको बिना कोई नाम लिए ही आशुतोष जी कि गिरफ्तारी नहीं हुई कह कर टाल दिया। वहीं वरीय अधिकारियों के दबाव में आशुतोष कुमार की गिरफ्तारी का दबाव होने के कारण गिरफ्तार किया गया। लेकिन परिवार के किसी भी व्यक्ति को इस बात की सूचना नहीं दी गई। जबकि आशुतोष कुमार एक संगठन के अध्यक्ष हैं और कोई अपराधिक रिकार्ड भी नहीं है। आम आदमी की आवाज दबाने का प्रयास इसलिए किया जा रहा है, जिसका कारण मोदी सरकार के प्रधानमंत्री का बिहार आगमन। ज्ञात हो कि भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी चम्पारण यात्रा के शताब्दी वर्ष के समापन समारोह में शामिल होकर अपनी राजनीतिक 2019 के चुनाव की नींव रखेंगे। राजनीति षड्यंत्र के तहत अपनी शक्ति प्रदर्शन के लिए भारत के सी प्रशासनिक तंत्र आरक्षण के मुद्दे पर हो रही भारत बंदी को दबाना चाहते हैं। वहीं 2 अप्रैल को पूरा भारत बंद कर खरबों रूपये का नुकसान किया गया 6 लोगों की हत्या कर दी गई, जिसे मौत का रूप देकर ठंडे बस्ते में डाल दिया गया। वहीं वैशाली जिले में एक माँ का गोद उजागर दिया गया। माँ की गोद सुनी करने के बाद भी 8 वें दिन भी कोई कार्यवाई नहीं कि गई।

09-Apr-2018 05:17

राजनीति मुख्य खबरें

समाचार भारत_दर्शन राजनीति खेल जुर्म शिक्षा चिकित्सा धर्म परम्परा व्यक्तित्व कला सम्मान फिल्म सामाजिक_संस्थान रोजगार कानून अर्थव्यवस्था समस्या पर्यावरण सैनिक पुलिस गांव शहर ज्योतिष सामान्य_प्रशासन जन_संपर्क छात्र_छात्रा
Copy Right 2020-2025 Ahaan News Pvt. Ltd. || Presented By : CodeLover Technology