10-Dec-2019 10:30

जानबूझकर अज्ञात के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज, जिले के किस वरीय पुलिस अधिकारी की भूमिका

अपराधी को बचाने में और अपराध की लिपापोती करने में पुलिस की जो भूमिका रही है सब कुछ जनता और अदालत को मालूम होता है l

जहानाबाद जिला अंतर्गत हुलासजगंज थाना काण्ड संख्या 160/2019 में रिकार्डेड अपराधिक प्रवृति के अपराधी को पकड़कर थाना से छोड़ने एवं अज्ञात के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज करने के थानाध्यक्ष के कृत्य के खिलाफ जनहित में शिकायत पत्र डीजीपी सहित संबंधित पुलिस अधिकारियों को प्रेषित कर चुका हूँ l इधर विश्वस्त सूत्रों से जानकारी प्राप्त हो रही है कि रमा शंकर कुमार ए एस पी सह अभियान पुलिस अधीक्षक श्री पंकज कुमार के लगातार संपर्क में हैं और मामले को रफा दफा करवाने की फिराक में हैं और इस संगीन अपराध में जानबूझकर लीपापोती किया जा सकता है l जानबूझकर अज्ञात के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज करवाने में जिले के किस वरीय पुलिस अधिकारी की भूमिका है इसकी असली वजह क्या है इसकी गहराई से उच्च स्तरीय जांच होनी चाहिए क्योंकि जब अभियान एसपी श्री पंकज कुमार अपराधी प्रवृति के रिकार्डेड अपराधी से घंटो मिल बैठ रहे हैं और इसकी जानकारी वहाँ के आम आदमी और खास लोगों को भी है तो इसका तहकीकात उच्च स्तरीय होनी चाहिए l

अपराधी को बचाने के लिए कही मामला को पेंडिंग में डालने के लिए सुपरविजन रिपोर्ट तो कही तैयार नहीं हो रहा है जिसकी आशंका स्थानीय लोगों को भी है l इस मामले में पुलिस की भूमिकाओं की संदिग्धता को देखते हुए इसकी निगरानी जाँच होनी चाहिए ताकि पूरी सच्चाई उजागर हो सके और अपराधी को बचाने के लिए थानाध्यक्ष और अभियान एसपी की क्या कोई भूमिका है इसका पटाछेप हो सके l इस मामले को लेकर मैं पटना उच्च न्यायालय में जरूर जाऊँगा l मेरा मानना है कि जिसके घर में यह सब बरामद किया गया है और वह रिकार्डेड अपराधी है तो जब वह पकड़ा गया तो उसे हाजत से छोड़कर लीपापोती कर अज्ञात के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराने का कारण क्या बनता है l

हमने इस तरह के पुलिसिया करतूतों का हरदम मुखर विरोध किया है और आगे भी करता रहूँगा l अपराधी को बचाने में और अपराध की लिपापोती करने में पुलिस की जो भूमिका रही है सब कुछ जनता और अदालत को मालूम होता है l बिहार सरकार के गृह मंत्रालय एवं पुलिस मुख्यालय से मेरा माँग है कि कृपया गंभीरता से इसकी जाँच की जाय और दोषी पुलिस अधिकारियों को चिन्हित कर उनपर आपराधिक मुकदमा दर्ज किया जाय और विभागीय कार्रवाई किया जाय l दिनांक 2/12/2019 को अपराधी प्रवृत्ति का रिकार्डेड रमा शंकर कुमार एवं उनके भाई ए एस पी पंकज कुमार में मिलने किस लिए गए थे और अगल बगल के सीसीटीवी कैमरों के रिकॉर्ड को पुलिस मुख्यालय और गृह मंत्रालय मंगाकर जाँच पड़ताल शुरू करे l

यह बहुत ही संवेदनशील मामला है कि बड़े पैमाने पर शराब बरामदगी साथ ही साथ गांजा और असलहों कारतूसों की बरामदगी के बावजूद अपराधी को लेकर हाजत में लाने के बाद लीपापोती करने के लिए अज्ञात के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज किया गया और मूल अपराधी को छोड़ दिया गया l पुलिस मुख्यालय और गृह मंत्रालय में मांग करता हूँ कि थानाध्यक्ष हुलसजगंज ए एस पी अभियान पंकज कुमार और अपराधी रमा शंकर कुमार का नार्को टेस्ट होना चाहिए ताकि अपराध का ठीक से उद्भेदन हो सके और अपराधी को बचाने के पीछे के खेल का रहस्योद्घाटन हो सके l

10-Dec-2019 10:30

पुलिस मुख्य खबरें

समाचार भारत_दर्शन राजनीति खेल जुर्म शिक्षा चिकित्सा धर्म परम्परा व्यक्तित्व कला सम्मान फिल्म सामाजिक_संस्थान रोजगार कानून अर्थव्यवस्था समस्या पर्यावरण सैनिक पुलिस गांव शहर ज्योतिष सामान्य_प्रशासन जन_संपर्क छात्र_छात्रा
Copy Right 2020-2025 Ahaan News Pvt. Ltd. || Presented By : CodeLover Technology